क्रिसमस पर जीवन और मृत्यु

चोर केवल चोरी करने, मार डालने, और नाश करने को आता है। मैं इसलिए आया हूँ कि वे जीवन पाएँ, और बहुतायत से पाएँ। (यूहन्ना 10:10)

जब मैं इस भक्तिमय अध्ययन को आरम्भ करने वाला था, मुझे सन्देश मिला कि मैरियन न्यूस्ट्रम की मृत्यु हो गई है। मैरियन और उसके पति एल्मर इतने लम्बे समय से हमारी कलीसिया के सदस्य थे जितना कि कई सदस्यों की आयु भी नहीं होगी। वह 87 वर्ष की थीं। उनके विवाह को 64 वर्ष हो चुके थे।

जब मैंने एल्मर से बात की और उसे बताया कि मैं चाहता हूँ कि वह प्रभु में दृढ़ रहे और जीवन से मुँह न मोड़े, तो उसने कहा, “ख्रीष्ट मेरा सच्चा मित्र रहा है।” मैं प्रार्थना करता हूँ कि सभी ख्रीष्टीय जीवन के अन्त में कह सकें कि, “ख्रीष्ट मेरा एक सच्चा मित्र रहा है।”

प्रत्येक ख्रीष्ट आगमन पर मैं अपनी माँ की पुण्यतिथि मनाता हूँ। 56 वर्ष की आयु में इस्राएल में एक बस दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई थी। वह 16 दिसम्बर 1974 का दिन था। वे घटनाएँ आज भी मेरे लिए अविश्वसनीय रूप से वास्तविक हैं। यदि मैं स्वयं पर नियन्त्रण न रखूँ, तो सरलता से मेरी आँखों में आँसू उमड़ सकते हैं—उदाहरण के लिए, यह सोचकर कि मेरे पुत्र उनसे कभी नहीं मिले सके। क्रिसमस के अगले ही दिन हमने उन्हें गाड़ा था। वह कितना ही अनमोल क्रिसमस था!

आप में से कई लोग इस क्रिसमस पर पहले से अधिक स्पष्ट रूप से हानि का आभास करेंगे। इसे रोकने का प्रयत्न न करें। इसे आने दें। इसका आभास करें। अन्ततः यदि प्रेम हमारे स्नेह की तीव्रता को न बढ़ाये तो वह किसलिए है—चाहे जीवन हो या मृत्यु? परन्तु आप अपने हृदय में कड़वाहट न आने दें। हृदय की कड़वाहट दुखद रूप से आत्म-विनाशकारी होती है।

यीशु क्रिसमस पर आया था कि हमें अनन्त जीवन प्राप्त हो सके। “मैं इसलिए आया हूँ कि वे जीवन पाएँ, और बहुतायत से पाएँ” (यूहन्ना 10:10)। एल्मर और मैरियन ने इस विषय पर चर्चा की थी कि वे अपने अन्तिम वर्ष कहाँ बिताएँगे। एल्मर ने कहा, “मैरियन और मैं सहमत थे कि हमारा अन्तिम घर प्रभु के साथ होगा।”

क्या आप अपने घर जाने के लिए व्याकुलता का आभास करते हैं? मेरा परिवार छुट्टियों के लिए घर आ रहा है। यह अच्छी अनुभूति है। मुझे प्रतीत होता है कि इस अच्छी अनुभूति का आधारभूत कारण यह है कि हमारे अस्तित्व की गहराई में हम एक अन्तिम घर जाने के लिए ठहराए गए हैं। घर लौटने की अन्य सभी घटनाएँ भविष्य में आने वाली उस उत्तम बात का पूर्वानुभव हैं। और ये पूर्वानुभव अच्छे हैं।

जब तक कि वे उस उत्तम बात का स्थान न ले लें। इस समयकाल की सभी मधुर वस्तुओं को अन्तिम, महान्, पूर्ण-संतोषजनक मधुरता का स्थान न लेने दें। आपके जीवन की प्रत्येक हानि और प्रत्येक आनन्द आपको स्वर्गीय घर के लिए और अधिक उत्सुक करें।

क्रिसमस। यदि यह नहीं है तो फिर क्या है: मैं इसलिए आया हूँ कि वे जीवन पाएँ? मैरियन न्यूस्ट्रम, रूथ पाइपर, तथा आप और मैं—कि हमारे पास अभी और सदा के लिए जीवन हो।

अनन्तकाल के झरने से पीने के द्वारा आप इस क्रिसमस पर अपने वर्तमान को अधिक समृद्ध तथा अर्थपूर्ण बनाएँ। यह अत्यन्त निकट है।

साझा करें
जॉन पाइपर
जॉन पाइपर

जॉन पाइपर (@जॉन पाइपर) desiringGod.org के संस्थापक और शिक्षक हैं और बेथलेहम कॉलेज और सेमिनरी के चाँसलर हैं। 33 वर्षों तक, उन्होंने बेथलहम बैपटिस्ट चर्च, मिनियापोलिस, मिनेसोटा में एक पास्टर के रूप में सेवा की। वह 50 से अधिक पुस्तकों के लेखक हैं, जिसमें डिज़ायरिंग गॉड: मेडिटेशन ऑफ ए क्रिश्चियन हेडोनिस्ट और हाल ही में प्रोविडेन्स सम्मिलित हैं।

Articles: 358
Album Cover
: / :