परमेश्वर न्यायी और उद्धारकर्ता है इसलिए अपने पापों को उसके सामने लेकर के आओ।

भजन संहिता 38:1-22