परमेश्वर की भलाई के कारण उसकी स्तुति करो, उसको चखो और उसकी शरण में आओ।

भजन संहिता 34:1-22