प्रार्थना में परमेश्वर को गंभीरता से लो।

मत्ती 6:5-8