सुसमाचार की विश्वसनीय सेवकाई।

1 तीमुथियुस 4:6-11