यीशु के शिष्य अपनी आत्मिक दरिद्रता को पहचानते हैं|