यीशु ने हमारे उद्धार के लिए मनुष्य के रूप में दु:ख उठाया।

यूहन्ना 19:28-29