परमेश्वर अपनी प्रतापमय वाणी के द्वारा राज्य करता है।

भजन संहिता 29:1-11