जॉन पाइपर

जॉन पाइपर (@जॉन पाइपर) desiringGod.org के संस्थापक और शिक्षक हैं और बेथलेहम कॉलेज और सेमिनरी के चाँसलर हैं। 33 वर्षों तक, उन्होंने बेथलहम बैपटिस्ट चर्च, मिनियापोलिस, मिनेसोटा में एक पास्टर के रूप में सेवा की। वह 50 से अधिक पुस्तकों के लेखक हैं, जिसमें डिज़ायरिंग गॉड: मेडिटेशन ऑफ ए क्रिश्चियन हेडोनिस्ट और हाल ही में प्रोविडेन्स सम्मिलित हैं।
“परन्तु मैं तो अपने घराने समेत यहोवा ही की सेवा करूंगा” (यहोशू 24:15)। इसका क्या अर्थ है? इसका अर्थ है कि जो कुछ वह कहता है उसे इस प्रकार से...
केवल परमेश्वर ही दाऊद के जैसे हृदय को सन्तुष्ट करेगा। और दाऊद परमेश्वर के मन के अनुसार एक व्यक्ति था। इसी प्रकार का होने के लिए हम भी सृजे गए...
यह असामान्य लग सकता है, परन्तु दुखों द्वारा विचलित किए जाने के प्राथमिक उद्देश्यों में से एक जो हमारे विश्वास को और भी अधिक दृढ़ बनाता है।  विश्वास मांसपेशियों के...
दो मुख्य कारण हैं कि क्यों ख्रिष्टीयों को अपने शत्रुओं से प्रेम करना चाहिए और उनका भला करना चाहिए । पहला कारण है कि यह परमेश्वर के विषय में कुछ...
हमें ऐसी धार्मिकता की आवश्यकता है जो परमेश्वर को ग्रहणयोग्य हो। परन्तु यह धार्मिकता हमारे पास नहीं है। हमारे पास जो है वह केवल पाप है।  किन्तु, परमेश्वर के पास...
अन्य दस प्रेरितों के विषय में क्या कहेंगे (यहूदा को नहीं गिना गया है)? शैतान उन्हें भी फटकने जा रहा था। क्या यीशु ने उनके लिए प्रार्थना की? जी हाँ...
परमेश्वर में असंगतता नहीं पाई जाती है। वह प्रतिज्ञाओं, और शपथों, और अपने पुत्र के लहू के साथ स्वयं हमारी सुरक्षा के केवल एक छोर पर ही लंगर डालने का...
भविष्य के विषय में चिन्ता करना क्यों घमण्ड का एक रूप है? परमेश्वर का उत्तर कुछ इस प्रकार से सुनाई देगा (यशायाह 51:12 को आसान ढंग से व्यक्त  करते हुए): ...
Play Video
Play Video
Play Video
Play Video