कलीसियाई अगुवाई को समझना (Understanding Church Leadership)

मार्क डेवर
(1 customer review)

0.00100.00

कलीसिया की अगुवाई कौन करता है? यह परमेश्वर के लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

परमेश्वर को अपनी महिमा की चिन्ता है और वह कलीसिया के माध्यम से अपनी महिमा को प्रदर्शित करना चाहता है। इसी उद्देश्य के लिए परमेश्वर ने एल्डरों और डीकनों, सदस्यों और सामूहिक अधिकार को स्थापित किया है। कलीसिया संरचना पर यह आधारभूत पुस्तिका कलीसिया के विभिन्न पदों (offices) को एक-दूसरे से और परमेश्वर की महिमा से जोड़ती है।

कलीसियाई मूल शिक्षा श्रृंखला में कलीसिया के विश्वासयोग्य विशेषज्ञों ने कलीसियाई अगुवाई, अनुशासन, प्रभु भोज और बपतिस्मा जैसे विषयों पर व्यावहारिक एवं विश्वासयोग्य संसाधन लिखे हैं, जिन्हें प्रत्येक पास्टर कलीसिया के प्रत्येक सदस्य को दे सके।

समान श्रृंखला की पुस्तकें:

  1. पुस्तक : [प्रभु-भोज को समझना]
  2. पुस्तक : [बपतिस्मा को समझना।]
  3. पुस्तक : [मण्डलीय अधिकार को समझना।]
  4. पुस्तक : [कलीसियाई अनुशासन को समझना]
  5. पुस्तक : [महान् आदेश को समझना]
प्रारूप (Format)

,

प्रकाशक (Publisher)

1 review for कलीसियाई अगुवाई को समझना (Understanding Church Leadership)

  1. Isaac

    यह पुस्तक कलीसिया में आधारभूत विभिन्न पदों के विषय में चर्चा करती है जो की कलीसिया के संचाल और परमेश्वर की माहिम के लिए महत्वपूर्ण है।

रिव्यु करें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *