विषय प्रार्थना

यीशु हमारे लिए प्रार्थना करता है

यहाँ पर लिखा है कि ख्रीष्ट सम्पूर्णतः से उद्धार करने में समर्थ्य है — सर्वदा तक — क्योंकि वह हमारे लिए निवेदन करने को सर्वदा जीवित है। दूसरे शब्दों में, यदि वह सर्वदा हमारे लिए मध्यस्थता नहीं करता, तो वह…

प्रार्थना की पहली प्राथमिकता

प्रभु की प्रार्थना में, यीशु शिक्षा देता है कि प्रार्थना में पहली प्राथमिकता स्वर्गीय पिता से यह माँगना है कि उसका नाम पवित्र माना जाए। हम में। कलीसिया में। संसार में। हर स्थान पर। ध्यान दीजिए कि यह एक याचना…

प्रार्थना हेतु योजना बनाएँ

प्रार्थना यीशु के साथ फलदायी सहभागिता में आनन्द की खोज करती है, इस बात को जानते हुए कि जब हम प्रार्थना के प्रतिउत्तर में फलदायी होते हैं तो परमेश्वर महिमान्वित होता है। परमेश्वर की सन्तानें क्यों प्रायः प्रसन्न तथा फलदायी…

किस प्रकार की प्रार्थना परमेश्वर को प्रसन्न करती है?

सीधे हृदय वाले व्यक्ति का प्रथम चिन्ह यह है कि वह यहोवा के वचन से थरथराता है। यशायाह 66 इस समस्या के विषय में बात करता है कि कुछ लोगों की आराधना की रीति परमेश्वर को प्रसन्न करती है और…

प्रार्थना पापियों के लिए है।

परमेश्वर पापियों की प्रार्थनाओं का उत्तर देता है न कि सिद्ध लोगों की प्रार्थनाओं का। और आप अपनी प्रार्थना में पूर्णतः शक्तिहीन हो जाएँगे यदि आप इस बात का आभास नहीं करते हैं और क्रूस पर अपना ध्यान केन्द्रित नहीं…