क्यों हमें अपनी आशा को दृढ़ता से थामे रहना चाहिए

परमेश्वर में असंगतता नहीं पाई जाती है। वह प्रतिज्ञाओं, और शपथों, और अपने पुत्र के लहू के साथ स्वयं हमारी सुरक्षा के केवल एक छोर पर ही लंगर डालने का प्रयास नहीं करता है जबकि दूसरे छोर को हवा में लटकने के लिए छोड़ देता है।

जो उद्धार यीशु ने अपने लहू के द्वारा प्राप्त किया था वह लहू आवश्यकतानुसार पर्याप्त था उसके लोगों की मुक्ति हेतु, केवल उसका कुछ ही भाग नहीं।

इसलिए हम पूछने के लिए उन्मुख होते हैं, कि लेखक हमें  अपनी आशा को थामे रखने के लिए क्यों प्रोत्साहित करता है (इब्रानियों 6:18)? यदि हमारा थामे रहना यीशु के लहू से प्राप्त हुआ था और अपरिवर्तनीय रीति से सुरक्षित था — जो कि यह था (नई वाचा और पुरानी वाचा के बीच में यही अन्तर है) — तो फिर परमेश्वर हमें  थामे रखने के लिए क्यों कहता है?

इसका उत्तर यह है कि:

  • मृत्यु के द्वारा ख्रीष्ट ने हमारे लिए जो कुछ मोल लिया वह थामे रहने से मुक्ति नहीं थी, किन्तु थामे रहने के योग्य बनाने वाली शक्ति थी।
  • जो उसने मोल लिया वह हमारी इच्छाओं को निष्प्रभावी किया जाना नहीं था जैसे मानो कि हमें थामे रहने की आवश्यकता नहीं थी, परन्तु हमारी इच्छा का सशक्तिकरण था जिससे कि हम थामना चाहेंगे।
  • जो उसने मोल लिया वह थामे रहने की आज्ञा का निरस्तीकरण नहीं था, किन्तु थामे रहने की आज्ञा का पूर्ण किया जाना था।
  • जो उसने मोल लिया वह प्रोत्साहन का अन्त नहीं था, किन्तु प्रोत्साहन की विजय थी।

वह मर गया जिससे कि आप वही करें जो पौलुस ने फिलिप्पियों 3:12 में किया था, “मैं उस उद्देश्य की पूर्ति के लिए अग्रसर होता जाता हूँ, जिसके लिए ख्रीष्ट (मसीह) यीशु ने मुझे पकड़ा था।” यह मूर्खता नहीं है, यह सुसमाचार है, एक पापी को वह करने के लिए कहना जिसको करने के योग्य उसे केवल ख्रीष्ट ही कर सकता है; अर्थात, परमेश्वर में आशा। 

अतः, मैं अपने सम्पूर्ण हृदय से आपको प्रोत्साहित करता हूँ: हाथ बढ़ाओ और उस बात को थाम लो जिसके लिए ख्रीष्ट के द्वारा आपको थामा गया है, और इसे अपनी सम्पूर्ण सामर्थ्य से थाम लो — जिसके लिए वह तुम में सामर्थ्य से कार्य करता है।

साझा करें
जॉन पाइपर
जॉन पाइपर

जॉन पाइपर (@जॉन पाइपर) desiringGod.org के संस्थापक और शिक्षक हैं और बेथलेहम कॉलेज और सेमिनरी के चाँसलर हैं। 33 वर्षों तक, उन्होंने बेथलहम बैपटिस्ट चर्च, मिनियापोलिस, मिनेसोटा में एक पास्टर के रूप में सेवा की। वह 50 से अधिक पुस्तकों के लेखक हैं, जिसमें डिज़ायरिंग गॉड: मेडिटेशन ऑफ ए क्रिश्चियन हेडोनिस्ट और हाल ही में प्रोविडेन्स सम्मिलित हैं।

Articles: 352