विषय सात वाणियां

यीशु की उत्तम पुकार हमें अनन्त आश्वासन देती है  

लूका 23:46 – और यीशु ने ऊँचे स्वर से पुकार कर कहा, “हे पिता, मैं अपना आत्मा तेरे हाथों में सौंपता हूँ।” यह कहकर उसने प्राण त्याग दिया। इसके आधार पे जो मुख्य बात हम देखेंगे वह यह है की…

यीशु राजा ने पवित्रशास्त्र की समस्त बातों को पूर्ण किया है।

यीशु मसीह की छठवीं वाणी एक विजयी राजा के शब्द है जिसने युद्ध जीत लिया हो। यह एक बड़ी खरीददारी के समान है जिसमें सम्पूर्ण धनराशी चुका दी जाती है। कहने का अर्थ है कि यीशु मसीह ने वह कार्य…

यीशु मसीह हम पापियों को बचाने के लिए मनुष्य के रूप में दुख उठाया।

इसके पश्चात यीशु ने यह जानकर कि सब कुछ पूरा हो चुका, इसलिए कि पवित्रशास्त्र की बात पूरी हो, कहा, “मैं प्यासा हूँ।” वहाँ सिरके से भरा एक बर्तन रखा था, अतः उन्होंने सिरके में भिगाए हुए स्पंज को जूफे…

यीशु ख्रीष्ट क्रूस पर बलिदान होने के द्वारा एक नया परिवार बनाता है।

तो जब यीशु ने अपनी माता, और उस चेले को जिस से वह प्रेम करता था, पास खड़े हुए देखा तो अपनी माता से कहा, “हे नारी ! देख, तेरा पुत्र !” तब उसने चेले से कहा, “देख, तेरी माता…

केवल यीशु मसीह ही पापों को क्षमा कर सकते हैं।

कलीसियाएँ गुड फ्राइडे (अच्छा शुक्रवार) को शुभ शुक्रवार के रूप में मनाती हैं। गुड इसलिए है क्योंकि आज से लगभग 2000 साल पहले प्रभु यीशु मसीह ने क्रूस के द्वारा उद्धार का कार्य पूरा किया। जब प्रभु यीशु मसीह क्रूस…