परमेश्वर की जलन में भय और आशा

“यहोवा, जिसका नाम जलन रखने वाला है वह जल उठने वाला परमेश्वर है।” (निर्गमन 34:14)

परमेश्वर अपने नाम के आदर हेतु असीम रीति से जलन रखता है, और उन लोगों के प्रति भयंकर प्रकोप में होकर प्रतिक्रिया करता है जिनके हृदय परमेश्वर के होने के स्थान पर अन्य बातों के पीछे चले जाते हैं, जैसे कि एक जीवन साथी अन्य प्रेमी के पीछे भाग रहा है।

उदाहरण के लिए, यहेजकेल 16:38-40 में वह विश्वासघाती इस्राएल से कहता है,

“मैं तेरा न्याय वैसा ही करूँगा जैसा व्यभिचारिणी या हत्यारी स्त्रियों का न्याय किया जाता है और मैं तुझे क्रोध और जलन से दण्ड दूँगा। मैं तुझे तेरे प्रेमियों के हाथ सौंप भी दूँगा, और वे तेरी वेदियों को गिरा देंगे . . . तुझे निर्वस्त्र कर देंगे, तेरे आभूषण छीन लेंगे, और तुझे नंगी और वस्त्रहीन छोड़ देंगे। वे तेरे विरुद्ध भीड़ को भड़का देंगे, वे तेरा पथराव करके तलवार से टुकड़े टुकड़े कर डालेंगे।”

मैं आप से आग्रह करता हूँ कि इस चेतावनी को सुनें। आपके अविभाजित प्रेम और भक्ति के लिए परमेश्वर की जलन सर्वदा ही निर्णायक रहेगी। जो भी बात छली आकर्षण के द्वारा आपके स्नेह को परमेश्वर से भटकाती है, वह लौटकर आपको निर्वस्त्र कर देगी और आपके टुकड़े-टुकड़े कर देगी।

परमेश्वर-प्रदत्त स्वयं के जीवन को सर्वशक्तिमान के विरुद्ध व्यभिचार करने के लिए उपयोग करना एक भयावह बात है।

परन्तु आप में से उन लोगों के लिए जिनका ख्रीष्ट के साथ सच में मिलन हुआ है और जो अन्य सब बातों को त्यागकर केवल उससे लिपटे रहने की और उसके आदर के लिए जीने की अपनी प्रतिज्ञाओं को पूरी करते हैं — आपके लिए परमेश्वर की जलन एक महान् सान्त्वना और एक महान् आशा है।

क्योंकि परमेश्वर अपने नाम के आदर के लिए असीम रीति से जलन रखता है, किसी भी वस्तु का या किसी भी बात का जो उसकी विश्वासयोग्य पत्नी को जोखिम में लाए, उसका ईश्वरीय सर्वसामर्थ्यता से विरोध किया जाएगा। विश्वासयोग्य पत्नी—अर्थात् परमेश्वर के विश्वासयोग्य लोगों के लिए यह शुभ समाचार है।

परमेश्वर का जलन रखना उन लोगों के लिए जोखिम की बात है जो व्यभिचार करते हैं और अपने हृदय को संसार को बेच देते हैं और परमेश्वर को धोखा खाया हुआ पति बनाते हैं (याकूब 4:3-4)। परन्तु उसका जलन रखना उन लोगों के लिए महान् सान्त्वना है जो अपनी वाचा की प्रतिज्ञाओं को पूरी करते हैं और जगत में परदेशी और प्रवासी बन जाते हैं।

साझा करें
जॉन पाइपर
जॉन पाइपर

जॉन पाइपर (@जॉन पाइपर) desiringGod.org के संस्थापक और शिक्षक हैं और बेथलेहम कॉलेज और सेमिनरी के चाँसलर हैं। 33 वर्षों तक, उन्होंने बेथलहम बैपटिस्ट चर्च, मिनियापोलिस, मिनेसोटा में एक पास्टर के रूप में सेवा की। वह 50 से अधिक पुस्तकों के लेखक हैं, जिसमें डिज़ायरिंग गॉड: मेडिटेशन ऑफ ए क्रिश्चियन हेडोनिस्ट और हाल ही में प्रोविडेन्स सम्मिलित हैं।

Articles: 358
Album Cover
: / :