आनन्द के लिए पन्द्रह युक्तियाँ

तू मुझे जीवन का मार्ग दिखाएगा, तेरी उपस्थिति में आनन्द की भरपूरी है; तेरे दाहिने हाथ में सुख सर्वदा बना रहता है। (भजन 16:11)

पीड़ा और पाप के इस जीवन में, आनन्द संकटग्रस्त है। ठीक विश्वास के समान। और पौलुस तीमुथियुस से कहता है, “विश्वास की अच्छी कुश्ती लड़” (1 तीमुथियुस 6:12)। आनन्द के साथ भी ऐसा ही है। हमें अवश्य ही इसके लिए कार्य करना चाहिए और इसके लिए लड़ना चाहिए। पौलुस कुरिन्थियों के विश्वासियों से कहता है, “हम तुम्हारे आनन्द के लिए तुम्हारे सहकर्मी हैं” (2 कुरिन्थियों 1:24)। 

तो फिर हम आनन्द के लिए कैसे लड़ेंगे? यहां पर 15 सुझाव हैं।

  1. यह जानिए कि परमेश्वर में वास्तविक आनन्द एक उपहार है।
  2. यह जानिए कि आनन्द के लिए नियमित रूप से लड़ना पड़ेगा। और इन पहले दो बिन्दुओं के प्रतीत होते विरोधाभास से उदासीन मत हो जाइगा।
  3. संकल्प लें कि पवित्र आत्मा की सामर्थ्य से, आप अपने जीवन के सभी ज्ञात पापों पर आक्रमण करेंगे। 
  4. गम्भीर अपराधबोध के रहस्य को सीखें — कि कैसे आप एक धर्मी ठहराए गए पापी के नाई लड़ेंगे। 
  5. यह जानिए कि यह युद्ध मुख्यतः एक लड़ाई है यह देखने के लिए — कि हम परमेश्वर को जान सकें कि वह कौन है। 
  6. परमेश्वर के वचन पर दिन-रात मनन कीजिए। 
  7. सत्यनिष्ठा के साथ और निरन्तर प्रार्थना कीजिए मन की आखें खुलने के लिए और परमेश्वर की ओर एक झुकाव के लिए। 
  8. स्वयं की बातों को सुनने के स्थान पर स्वयं को प्रचार करना सीखिए।
  9. परमेश्वर से संतृप्त लोगों के साथ समय व्यतीत करें जो आपको परमेश्वर को देखने और लड़ाई लड़ने में सहायता करते हैं।
  10. उस रात्रि में भी धैर्यवान बनें जब परमेश्वर की अनुपस्थिति प्रतीत होती है। 
  11. विश्राम कीजिए, व्यायाम कीजिए, और उचित आहार लीजिए जिसको प्राप्त करने के लिए आपके शरीर को परमेश्वर ने बनाया है। 
  12. प्रकृति में परमेश्वर के प्रकाशन का उचित उपयोग करें — हरेभरे स्थानों पर टहलने के लिए जाया करें। 
  13. परमेश्वर के विषय में उत्तम पुस्तकों को पढ़ें और महान सन्तों की जीवनियों को पढ़ें। 
  14. दूसरों के हित के लिए कठिन और प्रेमपूर्ण कार्य करें (आपकी मौखिक साक्षी और दया के कार्य)। 
  15. ख्रीष्ट के उद्देश्य के लिए वैश्विक दर्शन रखें, और स्वयं को अविश्वासियों के लिए उण्डेल दें।

इनमें से प्रत्येक बिन्दु का समर्थन करने के लिए बाइबल के पद हैं। यदि आप उन्हें पढ़ना चाहते हैं तो वे इस पुस्तक में हैं व्येन आई डोन्ट डिज़ायर गॉड: हाऊ टू फ़ाइट फॉर जॉय- (जब मैं परमेश्वर की अभिलाषा नहीं रखता हूँ:आनन्द के लिए कैसे संघर्ष करें)- When I Don’t Desire God: How to Fight for Joy.)

साझा करें
जॉन पाइपर
जॉन पाइपर

जॉन पाइपर (@जॉन पाइपर) desiringGod.org के संस्थापक और शिक्षक हैं और बेथलेहम कॉलेज और सेमिनरी के चाँसलर हैं। 33 वर्षों तक, उन्होंने बेथलहम बैपटिस्ट चर्च, मिनियापोलिस, मिनेसोटा में एक पास्टर के रूप में सेवा की। वह 50 से अधिक पुस्तकों के लेखक हैं, जिसमें डिज़ायरिंग गॉड: मेडिटेशन ऑफ ए क्रिश्चियन हेडोनिस्ट और हाल ही में प्रोविडेन्स सम्मिलित हैं।

Articles: 348
Album Cover
: / :