वह सिद्ध नगर
जॉन पाइपर द्वारा भक्तिमय अध्ययन

जॉन पाइपर द्वारा भक्तिमय अध्ययन

संस्थापक और शिक्षक, desiringGod.org

उसने उनके लिए एक नगर तैयार किया है। (इब्रानियों 11:16)

कोई प्रदूषण नहीं, दीवारों पर कोई चित्र नहीं, कोई कूड़ा नहीं, और न ही दीवारों पर ऐसा रंग है जिसकी परतें उखड़ रही हों, वहाँ कोई दुर्गन्धमय मोटरघर नहीं, न ही कोई सूखी घास और न ही टूटी हुई बोतलें, सड़क पर होने वाला कोई गाली-गलौज नहीं, आमने-सामने होने वाला कोई टकराव नहीं, और न ही कोई घरेलू हिंसा या संघर्ष, रात में किसी प्रकार का कोई संकट नहीं, न ही कोई आगजनी, न चोरी, न झूठ और न ही कोई हत्या, न कोई बर्बरता, और न ही कोई कुरूपता। 

परमेश्वर का नगर सिद्ध होगा, क्योंकि उस में परमेश्वर होगा। वह उसमें चलेगा और उसमें बातें करेगा और वह उस नगर के प्रत्येक क्षेत्र में स्वयं को प्रकट करेगा। वह सब कुछ वहाँ होगा जो अच्छा है और सुन्दर है और पवित्र है और शान्तिपूर्ण है तथा सच्चा और सुखद है, क्योंकि परमेश्वर वहाँ होगा। 

वहाँ सिद्ध न्याय होगा और इस संसार में ख्रीष्ट की आज्ञाकारिता हेतु सही गई प्रत्येक पीड़ा के लिए हज़ार गुना प्रतिफल मिलेगा। और यह नगर कभी नष्ट नहीं होगा। वास्तव में यह नगर तब और अधिक चमकेगा जब अनन्तकाल, शाश्वत युगों के वृद्धिशील आनन्द में बढ़ता रहेगा।  

जब आप इस नगर की अभिलाषा संसार की प्रत्येक वस्तु से बढ़कर करते हैं, तब आप परमेश्वर को महिमा देते हैं, जो इब्रानियों 11:10 के अनुसार इस नगर का रचने वाला और बनाने वाला है। और जब परमेश्वर को आदर मिलता है, तो वह प्रसन्न होता है और हमारा परमेश्वर कहलाने से वह लज्जित नहीं होता है। 

यदि आप इस प्रकार के और भी संसाधन पाना चाहते हैं तो अभी सब्सक्राइब करें

"*" आवश्यक फ़ील्ड इंगित करता है

पूरा नाम*